अपराध

बुराड़ी सामूहिक सुसाइड: 11वें दिन आत्मा के लौटने की अफवाह से खौफ, इलाके में भजन, कीर्तन और भागवत कथा

दिल्ली के बुराड़ी के संत नगर में 11 लोगों की मौत सामूहिक हत्या है या सामूहिक आत्महत्या इसको लेकर दिल्ली पुलिस अभी तक किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है. बुराड़ी की जिस गली में भाटिया परिवार रहता था उस गली में खौफ पसरा हुआ है. दरअसल दिल्ली पुलिस को जो दो रजिस्टर मिले हैं उनमें से एक में लिखा हुआ है कि ‘हम फिर अपने घर लौटेंगे’. बस इसी बात को लेकर आस पास की गलियों में किसी अंजाने खौफ से सन्नाटा पसरा हुआ है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मौत के बाद फिर से घर लौटने की बात ललित ने सामूहिक मौत से एक दिन पहले रजिस्टर के एक पेज में लिखी थी. इस पेज की आखिरी लाइन में ललित भाटिया ने लिखा है कि मौत के 11वें दिन वह और उनका परिवार वापस घर आएगा. बस इसी बात को लेकर आस पास के लोग डरे हुए हैं. रजिस्टर में लिखी इन लाइनों का खुलासा होने के बाद लोगों ने इलाके में पूजा-पाठ, हवन और भागवत गीता का पाठ कराने का फैसला किया है. वहीं इस मामले में क्राइम ब्रांच को शक है कि पूरा भाटिया परिवार भूतों और आत्माओं में यकीन रखता था. बताया जा रहा है कि ललित ने कई बार श्मशान घाट का दौरा किया था. वहीं घर में लगे इंटरनेट की ब्राउजिंग हिस्ट्री से पता लगा है कि पूरा परिवार यूट्यूब और इंटरनेट प्लेटफॉर्म पर भूतों और मौत के रहस्यों से जुड़े विडियो देखता था. बता दें कि 01 जुलाई को बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत की खबर मीडिया में आई थी. जिसमें से 10 लोगों के शव लटके मिले थे. एक वृद्धा का शव जमीन पर पड़ा था. शुरुआत में पुलिस के अनुसार 30 जून को इन लोगों की हत्या करके शव को पंखों से लटकाया गया था. लेकिन धीरे धीरे पुलिस की जांच के बाद ये थ्योरी चेंज होती चली गई.