देश

माहौल बिगाड़ने वाले को छोड़ेंगे नहीं : नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मोदी सरकार के मंत्री गिरिराज सिंह पर करारा हमला बोला है। बिना नाम लिए उन्होंने कहा है कि भारत सरकार के एक मंत्री जेल में जाकर दंगा आरोपियों से मुलाकात कर रहे हैं लेकिन उनकी सरकार न किसी को बचाती हैं और ना फंसाती है। नीतीश कुमार ने कहा कि जो लोग इस तरह का धंधा करेंगे उनको उनकी सरकार नहीं बख्शेगी। बता दें कि हाल ही में गिरिराज सिंह जेल में पहुंचकर दंगा के आरोप में बंद एक व्यक्ति से मिले थे। पार्टी कार्यकारिणी की बैठक के दौरान बिहार के मुख्यमंत्री ने दोहराया कि उनकी सरकार भ्रष्टाचार, अपराध और सांप्रदयिकता के मामले में कोई भी समझौता नहीं करेगी भले ही उनकी सरकार रहे या ना रहें। नीतीश कुमार के इस बयान से साफ दिख रहा है कि वह गिरिराज सिंह से खफा नजर आ रहे हैं। बता दें कि इस सम्मेलन में मीडिया को कवर करने की अनुमति नहीं दी गयी थी। दिल्ली में जारी बैठक के दौरान नीतीश कुमार ने अप्रत्यक्ष तौर पर बीजेपी पर हमला बोला और कहा कि जो हमें राजनीति में इग्नोर करने की कोशिश करेगा वो खुद राजनीति से इग्नोर जाएगा। उन्होंने कहा, ‘सबसे खराब स्थिति में भी जेडीयू को 17 फीसदी वोट मिला था। जो हमें राजनीति में इग्नोर करने की कोशिश करेगा वो खुद राजनीति से इग्नोर जाएगा।’ बैठक में अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी को चेतावनी देते हुए नीतीश कुमार ने कहा, ‘सबसे खराब स्थिति में भी जेडीयू को 17 फीसदी वोट मिला था। जो हमें राजनीति में इग्नोर करने की कोशिश करेगा वो खुद राजनीति से इग्नोर जाएगा।’
वहीं महागठबंधन में कांग्रेस द्वारा मिले आमंत्रण पर जेडीयू नेता के सी त्यागी ने साफ किया कि जब तक कांग्रेस पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) पर अपने स्टैंड को साफ नहीं करती है तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता है। के सी त्यागी ने कहा, ‘जब तक कांग्रेस आरजेडी जैसी भ्रष्ट पार्टी पर अपना स्टैंड साफ नहीं करती है, हम नहीं जानते कि किस तरीके से आगे बात की जाय।’ एक राष्ट्र एक चुनाव के मुद्दे पर के सी त्यागी ने कहा, ‘हम एक साथ चुनाव कराने के पक्ष में हैं लेकिन हमें नहीं लगता है कि यह आसानी से करवाया जा सकता है। हालांकि हम इसका विरोध नहीं कर सकते क्योंकि यह कम खर्च में चुनाव करवाने, काला धन को रोकने और बेहतर गवर्नेंस की तरफ एक कदम है।’ बता दें कि जहां राष्ट्रीय कांग्रेस ने कई मौकों पर जेडीयू को महागठबंधन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है वहीं आरजेडी प्रमुख लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को पहले ही खारिज कर चुके हैं। तेजस्वी यादव ने कहा था कि नीतीश कुमार के लिए महागठबंधन के सारे दरवाजे बंद हो चुके हैं क्योंकि उन्होंने बिहार की जनता को धोखा दिया है। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, के सी त्यागी और पार्टी के कई नेता शामिल हुए।