शिक्षा

मजदूर की बेटी ने 92% मार्क्स लेकर मेरठ जिले में किया टॉप

यूपी बोर्ड ने 10वीं क्लास के रिजल्ट कल यानी रविवार को घोषित किए थे. रिजल्ट घोषित होने के बाद कई बच्चों की ऐसी कहानियां सामने आ रही हैं, जिन्होंने तमाम मुश्किलों के बावजूद अच्छे मार्क्स हासिल करके दूसरों के सामने मिसाल पेश की है. ऐसी ही मिसाल पेश करने वाली एक कहानी मेरठ जिले की रहने वाली नेहा गुप्ता की है. नेहा ने 10वीं क्लास में 92% मार्क्स हासिल करके मेरठ जिले में टॉप किया है. नेहा की पिता संतराम एक मजदूर है, लेकिन उन्होंने कभी भी पैसे को अपनी बेटी की पढ़ाई के आड़े नहीं आने दिया. नेहा ने कहा, ”मैं गणित और साइंस में काफी कमजोर थी, इसलिए इन दोनों सब्जेक्ट की कोचिंग लेना चाहती थी. पर मेरा परिवार इसका खर्चा नहीं उठा सकता था, इसलिए मैं सिर्फ 4 महीने के लिए गणित की कोचिंग ली और उसमें 96 मार्क्स हासिल किए.” नेहा ने आगे कहा, ”मेरे पिता कभी नहीं चाहते थे कि पैसे कि वजह से हम पांचों भाई-बहनों से कोई पढ़ाई ना कर पाए.” हालांकि पढ़ाई के दौरान नेहा को काफी मुश्किलों का भी सामना करना पड़ा. गांव में बिजली नहीं रहने की वजह से नेहा अपनी ज्यादातर पढ़ाई दिन में ही कर लेती थी. नेहा के पिता का कहना है, ”मैं घर के हालात की वजह से पढ़ाई नहीं कर पाया था, लेकिन मैं चाहता हूं कि पैसे की वजह से मेरे किसी बच्चे की पढ़ाई नहीं रोकनी चाहिए. इसलिए तमाम मुश्किलों के बावजूद मैं उनकी पढ़ाई को रोकने नहीं देता.”