मौलाना साद पर कसा शिकंजा

11 अकाउंट और 18 मोबाइल में छिपा राज

कोरोना को लेकर बरती गई बड़ी लापरवाही के बाद से ही तबलीगी जमात पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का शिकंजा कसता जा रहा है। एजेंसियों की नजर जमात मुख्यालय के अकाउंट सहित 11 बैंक अकाउंट के ईद-गिर्द घूम रही है। आर्थिक गड़बड़ी की आशंका के मद्देनजर चल रही जांच में एजेंसियों की नजर 11 अकाउंट के अलावा मौलाना के छह करीबी लोगों और 18 मोबाइल फोन पर भी है। संदिग्ध बैंक अकाउंट में हुए ट्रांजेक्शन की बारीकी से जांच की जा रही है, वहीं मौलाना साद के बेटों समेत छह करीबी रिश्तेदारों के पूरे नेटवर्क को खंगाला जा रहा है, जबकि जांच टीम के राडार पर 18 मोबाइल भी हैं, जिनकी पिछले तीन महीने की कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) और उसकी लोकेशन की जांच भी की जा रही है। आर्थिक मामलों की जांच में ईडी जोर-शोर से जुटी है, वहीं क्राइम ब्रांच अब तक एकत्र किए साक्ष्यों और दस्तावेजों को ईडी को मुहैया करा रही है। अन्य दूसरे मामलों जैसे किस स्तर पर लापरवाही की गई, लापरवाही की इस साजिश में कौन-कौन से लोग जिम्मेदार हैं और सरकारी आदेश क बाद ही कोरोना संक्रमण के बीच हजारों की तादात में लोगों को यहां रखने के लिए कौन-कौन से लोग जिम्मेदार लोगों की भूमिका पर अपना शिकंजा कसने में जुट गई है।  आर्थिक गड़बड़ी की आशंका के मद्देनजर हवाला कनेक्शन पर एजेंसियों की पैनी नजर है। बैंक अकाउंट में पिछले दिनों अचानक बढ़े कैश फ्लो और लेन-देन को लेकर जांच एजेंसी को शक है। हालांकि एजेंसियों ने अबतक यह साफ नहीं किया है कि किस तरह की आर्थिक गड़बड़ी सामने आ रही है या फिर हवाला कनेक्शन से लेकर कोई उनके हाथ कोई सबूत हाथ लगे हैं या नहीं। आलम यह है कि कई हवाला से जुड़े ऑपरेटर को इस जांच की जद मे रखा गया है। इतना ही नहीं इसके लिए कइयों से पूछताछ की जा चुकी है, जबकि कइयों से पूछताछ की तैयारी भी चल रही है।

18 मोबाइल कौन-कौन से : जिन 18 मोबाइल फोन की डिटेल खंगाली जा रही है, उसके बारे मे यह कहा जा रहा है कि ज्यादातर नंबर जांच के दायरे में आए बैंक अकाउंट से जुड़े हैं। ये मौलाना साद के बेटों और करीबी रिश्तेदारों के छह से आठ नेटवर्क से भी जुड़े हैं। इसलिए जांच एजेंसियां लगातार इनके जरिए पूरे नेटवर्क को खंगालने में जुट गई हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More